०० एसआईटी की जांच में टेपकांड से जुड़े कई बड़े नामों तक पुलिस की पहुंचेगी जांच
रायपुर। अंतागढ़ चुनाव में प्रत्याशी खरीद फरोख्त की एसआईटी जांच की शुरूआत हो गई है, एसआईटी टीम ने मुख्य आरोपी फिरोज सिद्दिकी से चार घंटे की लंबी पूछताछ में कई अहम जानकारी हासिल की है। अब उस पर एसआईटी की जांच आगे बढ़ेगी जिसमें इसमें शामिल सभी बड़े नामों तक पुलिस की जांच पहुंचेगी।

अंतागढ़ टेपकांड के मास्टरमाइंड फिरोज सिद्दीकी से पूछताछ खत्म हो गई है। एसआईटी ने करीब 4 घंटे तक फिरोज से पूछताछ की। फिरोज से कई पहलुओं पर पूछताछ हुई। साथ ही एसआईटी ने सिद्दीकी से ओरिजनल ऑडियो टेप मांगा है। फिरोज सिद्दीकी ने मीडिया को बताया कि एसआईटी ने उससे आडियो टेप की ओरिजिनल कॉपी मांगी है। अंतागढ़ टेप कांड के लिए गठित एसआईटी ने सिद्दिकी के साथ ही मंतूराम पवार को तलब किया था। इनमें से सिद्दिकी दोपहर में एसआईटी अफसरों के समक्ष अपने वकील के साथ हाजिर हुए। एसआईटी चीफ रायपुर एसपी नीतू कमल, डीएसपी अभिषेक माहेश्वरी समेत अन्य अफसरों ने फिरोज से पूछताछ की। गौरतलब है कि 2014 में कांकेर जिले की अंतागढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुए थे, इस सीट से कांग्रेस ने मंतूराम पवार को टिकट दिया था। वहीं भाजपा ने भोजराज नाग को मैदान में उतारा था, लेकिन एन वक्त पर मंतूराम पवार ने अपना नाम वापस ले लिया था, जिसके बाद भाजपा के भोजराज नाग ने यहां से जीत दर्ज की थी। इसके बाद एक कथित ऑडियो टेप सामने आया था, जो अजीत जोगी के बेटे और तत्कालीन मरवाही विधायक अमित जोगी और तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता के बीच बातचीत का कथित ऑडियो था। टेप में रुपयों के लेन-देन की बात हुई थी। ये लेन-देन कांग्रेस उम्मीदवार मंतूराम पवार के नाम वापस लेने को लेकर था।
फिरोज ने मांगी सुरक्षा :- टेपकांड के पीछे कोई और होने की बात को स्वीकार करते हुए फिरोज सिद्दिकी ने बताया कि मामले में कई प्रभावशाली लोगों के शामिल होने के कारण जान का खतरा है। साथ ही आने वाले दिनों में सुरक्षा की मांग करने की बात कही है।
कई लोगों से होगी पूछताछ :- पूछताछ के बाद एसआईटी चीफ एसपी रायपुर नीथू कमल ने कहा कि फिरोज से कई पहलुओं पर पूछताछ हुई है और आने वाले दिनों में कई और लोगों से पूछताछ हो सकती है।

You missed