०० शासन के नियम बदलते ही कांग्रेस समर्थित किसानो को अध्यक्ष बनाने के लिए एक-एक लाख से लेकर 3 लाख तक का आफर

०० कांग्रेस के जिला सचिव व किसान के बीच का सोशल मिडिया में आडियो वायरल

०० रणवीर पुर समिति कवर्धा कबीरधाम जिला में समिति अध्यक्ष बनने पैसा की मांग

बिलासपुर| जिला सहकारी बैंक और सेवा सहकारी समिति के अध्यक्षों के चुनाव का नियम सरकार ने बदल दिया है अब मनोनयन होना है, शासन के नियम बदलते ही कांग्रेस समर्थित किसानो को अध्यक्ष बनाने के लिए एक-एक लाख से लेकर 3 लाख तक का आफर दिया जा रहा है| यह दावा सोशल मिडिया में वायरल हो रहे कांग्रेस के पदाधिकारी व कांग्रेस समर्थित किसान के बीच हुई बातचीत का आडियो है जो हमारी संसथान द्वारा पुष्टि नहीं किया जा रहा है आडियो की जांच पड़ताल में ही इसकी सत्यता की पुष्टि हो सकती है| सहकारिता के क्षेत्र में राज्य शासन द्वारा मनोनीत कर समितियों में केवल कांग्रेस विचारधारा के लोगों का अध्यक्ष एवम सदस्य नियुक्त किया जा रहा जो सरासर गलत है लोकतांत्रिक व्यवस्था को कुचलने का प्रयास है,वास्तविक किसानों को प्रतिनिधित्व करने के अधिकार से वंचित किया जा रहा है ।

विधान सभा सत्र के दौरान राज्य सरकार ने सेवा सहकारी समिति व सहकारी बैंक अध्यक्ष के चुनाव को लेकर बड़ा बदलाव किया है, अव समिति और सहकारी बैंक अध्यक्षों का चुनाव नहीं होगा इसके लिए कांग्रेस पार्टी में चुनावी प्रक्रिया के स्थान पर मनोनयन से चयन किया जाएगा, भाजपा ने इसका विरोध करते हुए अध्यक्षों के मनोनयन से लोकतंत्र कि हत्या होना करार दिया है, आरोप यह भी लगाया जा रहा है कि सेवा सहकारी समितियों में अध्यक्ष बनने के लिए लाख से तीन लाख तक की बोलिया लग रही है अधिकांश समितियों में लेनदेन पूरा कर नाम लगभग तय कर दिया गया है| इस मामले में भारतीय किसान संघ के अध्यक्ष ने कहा कि नए नियम से किसानो के प्रतिनिधित्व करने के अधिकार का हनन होगा|  सोशल मिडिया में वायरल हो रहे इस आडियो में कथित बातचीत के अश प्रकाशित किए जा रहे है|

बिचौलिया : भाठापारा के गुर्रा सोसायटी के अध्यक्ष बनेंगे|

किसान : फिलहाल फौती नहीं उठा है, मै नहीं बन सकता|

बिचौलिया : तो कौन बन सकता है, जो अपना आदमी हो और कांग्रेस का काम करता हो?

किसान : मेरे चाचा है ना पूरनलाल साहू|

बिचौलिया : सेटिंग में अध्यक्ष बन रहे है, 2 दिन के भीतर बताओ समय नहीं है|

किसान : शाम तक चाचा को पूछकर बताऊंगा

बिचौलिया : इसमें खर्चा लगेगा तक़रीबन एक लाख सब जगह हो गया है तुम्हारे आसपास के 2 सोसायटी में बाकी है|

किसान : ठीक है न पूछकर बताऊंगा

बिचौलिया : चुनाव होता तो 15 दिन घूमते 10 लाख खर्चा भी होता लेकिन जीतने की गारंटी नहीं थी ये सुनहरा अवसर है|

किसान : ठीक

बिचौलिया : एक लाख खर्चा होगा लेकिन धान खरीदी में 4-5 लाख कमाई हो जायेगी|

किसान : अच्छा

बिचौलिया :  अध्यक्ष बनने के लिए सुनहरा अवसर है इसके सामने सरपंच का पद कुछ नहीं है

किसान : मै समिति का सदस्य नहीं हु अगली बार देखूंगा

बिचौलिया :  तुम्हारे चाचा 60 हजार दे सकते है क्या बाकी 40 हजार सदस्यों से ले लेंगे|

किसान : ठीक है न पूछता हु

बिचौलिया :  ये बात अपने तक रखना वरना मेरे भविष्य का सवाल है

किसान : ठीक है न