बिलासपुर| राजनीति में एक परम्परा चली आ रही है कि हर नेता के एक या दो खास समर्थक होते हैं. इन समर्थकों का काम यह होता है कि अपने नेता की आगे पीछे जी हुजूरी करते रहे हैं, दौरा कार्यक्रम के दौरान दूल्हा जैसे आवभगत करें, इसके लिए खास समर्थक स्थानीय स्तर पर शासकीय विभाग के अधिकारियों से आर्थिक मदद लेता है, जो आर्थिक मदद उस समर्थक को मिलती है उसमें वह अपनी जेब भी भर लेता है चलिए, ये सब बातें जग जाहिर है|

चलिए विषय पर आते हैं. हुआ यूं कि कल सपरिवार मंत्री अमरजीत सिंह भगत छत्तीसगढ़ भवन पहुंचे, तो उनके स्वागत में समर्थकों के साथ फ़ूड अधिकारी राजेश शर्मा भी पहुंचे| वैसे यहाँ हम अपने पाठको को बताना चाहेंगे कि भगत के भी दो खास समर्थक हैं, यह जानकारी पार्टी सूत्रों से मिली है| ये दोनों समर्थक सबरी की तरह हैं. जिस तरह सबरी ने भगवान राम को बेर खिलाने से पहले ये सोचकर चखा था कि कहीं राम खराब बेर न खा लें| सूत्रों के अनुसार, दोनों समर्थकों के रहते राजेश शर्मा ने मंत्री को ठेले का खराब आलू गुण्डा खिला दिया और बताया कि संतोष भवन से मंगवाया गया है. इस बात को पार्टी और शहर के लोग मजा ले रहे हैं. इससे उनके समर्थकों का भी मजाक बन गया है|