बिलासपुर| कोरोना काल मे लोगो की जिंदगी को बचाने के लिए पुलिस कर्मियों के साथ ही अफ़सर अपनी डयूटी देने में लगे हुए है।इन पुलिस जवानों का साथ देने संभाग के आईजी रतन लाल डांगी अचानक इनसे मिलने पहुँच जाते है। बिलासपुर संभाग के आईजी रतन लाल डांगी कुछ दिन पहले कोरोना पॉजिटिव हो गए थे स्वस्थ होते ही आईजी अपने जवानों का हौसला बढ़ाने फिर निकल पड़े कोरोना निगेटिव होने के बाद लगातार दौरा कर रहे है|

पहले दिन बिलासपुर का दौरा करते हुए जवानों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए और दूसरे दिन मतलब मंगलवार को बिलासपुर के गांधी चौक, तोरवा चौक यातायात स्टाफ को 1-1 हजार दिए, इसके बाद आईजी जांजगीर चाम्पा जिले के दौरे पर निकल गए,जहां उन्होंने जांजगीर एवम् चांपा यातायात स्टाफ को भी 1-1 हजार रुपए और फ़ल भी दिए लोगो की मदद के लिए सामने आने की बात भी कही। कोरोना काल मे छत्तीसगढ़ के इस आईपीएस का यह अंदाज सभी को पसंद आ रहा है।अपने वातानुकूलित रूम से निकलने वाले अफसर वैसे भी बहुत कम ही होते है।आईपीएस डांगी जब पुलिस अधीक्षक भी थे उनका अपने जवानों से एक अलग ही लगाव रहता था।वो अपने पुलिस जवानों का हमेशा हालचाल जानने का कार्य किया करते थे। सोशल मीडिया में लोगो को सकारात्मक सोच के साथ धैर्य बनाकर रखने की अपील करते रहते है। आपको बता दे आईजी लोगो को जागरूक करने और कोरोना से लड़ने की अपील हर दिन सोशल मीडिया में भी करते रहते है, जिसमे हर किसी को सावधान और सुरक्षित रहने की बात करते है। इसके अलावा लोगो की मदद करने की बात भी कह रहे है, आईजी डांगी ने पुलिसकर्मियों के मनोबल बढ़ाने के साथ ही आम जनमानस को भी एक संदेश दिया है।,इतना ही नही आईजी के फल में सेव और पैसा देने के साथ साथ जवानों से कोरोना से बचाव और सावधान रहकर डयूटी करने की अपील की,उन्होंने कहा की निश्चित ही पुलिस विभाग अपनी जिम्मेदारी को अहम तरीके से निभा रहा है और हर किसी की मदद भी कर रहा है…और इस विपदा काल मे हम सभी अपनी जिम्मेदारी बखूबी रूप से निभा रहे है।जिसके लिए पुलिस के जवानों का सम्मान भी किया जा रहा है। आईजी ने जब चौक चौराहों पर खड़े हुए जवानों से बात करने के लिए गाड़ी को रुकवाई तो पल भर के लिए जवानों और पुलिस जवानों के बीच हड़कम्प सा मच गया लेकिन आईजी ने सहज और सरल तरीके से जवानों से मुलाकात की और साथ ही जवानों से उनका और उनके परिवार का हालचाल भी जाना और साथ ही मास्क लगाने के साथ सेनिटाइजर का उपयोग करने की बात भी की।साथ ही गरीबो की सेवा व मदद करने की बाते भी जवानों से कही।..इस बीच आईजी ने कहा की आप लोगों को कोई भी आवश्यकता पड़े मुझे तत्काल बताये।हम सब एक परिवार का हिस्सा है।हम सभी को अपने कर्तव्य का निर्वहन पूरी ईमानदारी के साथ करना है।