०० हाईकोर्ट ने कलेक्टर को नोटिस जारी कर 90 दिनों में मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का दिया है आदेश

०० क्रशर प्लांट पर खनिज विभाग ने लगाया प्रतिबन्ध बावजूद इसके संचालक द्वारा बोर-ब्लास्टिंग कर प्लांट से निकाला जा रहा पत्त्थर

०० लॉकडाउन लगने के बाद से पुन: क्रशर संचालक खदान में करा है अवैध रूप से ब्लास्टिंग

०० क्रशर संचालक कपिलेन्द्र शर्मा की मनमानी के खिलाफ कलेक्टर, एसपी, एसडीएम व मस्तुरी पुलिस संज्ञान लेकर करे कार्यवाही  

बिलासपुर| जयरामनगर खैरा में कपिलेन्द्र शर्मा द्वारा संचालित क्रशर में खनिज नियमो को ताक पर रखकर बोर-ब्लास्टिंग कर खनिज उत्खनन-परिवहन कराया जा रहा है इस मामले में हाईकोर्ट ने जिला कलेक्टर को नोटिस जारी कर 90 दिनों में जांच रिपोर्ट प्रस्तुत किये जाने के आदेश दिए है जिसके बाद भी क्रशर में ब्लास्टिंग-खनन-परिवहन निर्बाध जारी है| खनिज विभाग द्वारा उक्त क्रशर संचालक के खिलाफ कड़ी कार्यवाही नहीं किये जाने के चलते उसके हौसले बुलंद है व लगातार खनिज नियमो को तोड़कर मनमानी करने में लगा हुआ है| जयरामनगर सरपंच प्रतिनिधि कमल अग्रवाल ने कलेक्टर, एसपी व मस्तुरी थाना पुलिस से शिकायत करते हुए तत्काल कपिलेन्द्र शर्मा के क्रशर प्लांट को सीलबंदी व संचालक के खिलाफ कड़ी कार्यवाही किये जाने की मांग की है| 

जयरामनगर सरपंच प्रतिनिधि कमल अग्रवाल ने 7 माह पहले उच्च न्यायालय में अर्जी लगाकर जयरामनगर खैरा में कपिलेन्द्र शर्मा द्वारा संचालित क्रशर खनिज नियमो के विपरीत होने तथा क्षेत्र में क्रशर संचालन पर रोक लगाने की मांग की थी, इस मामले में उच्च न्यायालय ने जिला कलेक्टर को नोटिस जारी कर 90 दिनों में मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश जारी किया, जिसके बाद कलेक्टर ने खनिज विभाग एवं राजस्व विभाग को जयरामनगर खैरा के क्रशर प्लांट की जांच करने के आदेश दिए| कलेक्टर के आदेश के बाद खैरा में कपिलेन्द्र शर्मा द्वारा संचालित क्रशर प्लांट की जांच के लिए खनिज विभाग, विजिलेंस सहित पुलिस दल ने जांच किया, जांच के दौरान सरपंच प्रतिनिधि कमल अग्रवाल की शिकायत सही पाई गयी जिसमे क्रशर प्लांट घरों से महज 80 मिटर, शासकीय भवन से महज 50 मीटर, अवैध बोर ब्लास्टिंग, मजदूरों को कोई सुरक्षा किट नही,क्रेसर में बिना पानी पम्प का उपयोग सहित क्रशर प्लांट के ठीक ऊपर से विद्युत विभाग का हाईटेंशन तार भी गया वही प्लांट में पानी की भी उचित व्यवस्था नहीं होने सहित कई खामियाँ भी सामने आई जिसके बाद जांच दल ने मामले का रिपोर्ट तैयार कर तत्काल खनिज विभाग के उच्च अधिकारियो को मेल कर दिया लेकिन अचानक ही प्रदेशभर में लॉक डाउन लग गया जिसके चलते आगे की कार्यवाही नहीं हो पाई जिसका लाभ उठाकर क्रशर प्लांट संचालक कपिलेन्द्र शर्मा द्वारा मनमानी करते हुए क्रशर प्लांट में अवैध रूप से बोर मशीन से खुदाई कर ब्लास्टिंग कराया जा रहा है तथा अवैध पत्थर की निकासी की जा रही है| इस मामले में बीते 30 अप्रैल को जयरामनगर सरपंच प्रतिनिधि कमल अग्रवाल ने कलेक्टर, एसपी व मस्तुरी थाना पुलिस से शिकायत करते हुए तत्काल कपिलेन्द्र शर्मा के क्रशर प्लांट को सीलबंद कार्यवाही किये जाने की मांग की है|