०० भूमाफिया पिंटू शर्मा एवं नरेंद्र चौहान उर्फ़ नंदू द्वारा शासकीय जमीनों से वृक्षों को काटकर वन अधिनियम व राजस्व नियमो की उड़ाई धज्जियाँ 

०० मस्तूरी तहसील के भनेशर ग्राम पंचायत के नरवापारा, कृषि उपज मंडी एवं मंगल चंद तालाब के आसपास के विशाल वृक्ष पर चलाया गया है जेसीबी मशीन 

०० वन अधिकारियो ने वृक्षों की कटाई की पुष्टि की, वन अधिनियम के तहत होगी आगे कार्यवाही

बिलासपुर| मस्तुरी जनपद अंतर्गत जयरामनगर से लगे हुए ग्राम पंचायत भनेशर की निजी एवं शासकीय जमीन पर प्रतिबंधित हरे-भरे ईमारती वृक्षों को भूमाफिया पिंटू शर्मा व नरेन्द्र चौहान उर्फ़ नंदू द्वारा जेसीबी चलाकर उखाड़ने तथा कीमती ईमारती लकडियो को बेचे जाने का खुलासा होने के बाद वन विभाग के अधिकारियो के निर्देश पर आज सीपत क्षेत्र के वन अधिकारी ने मौके का निरीक्षण किया व वृक्षों की कटाई होने की पुष्टि करते हुए पंचनामा बनाया है जिसे वरिष्ठ अधिकारियो को अग्रिम कार्यवाही के लिए प्रतिवेदन प्रेषित किया गया है शासकीय एवं निजी जमीनों की हरे-भरे वृक्षों की कटाई मामले में भूमाफियाओ पर विभागीय शिकंजा कसना आरम्भ हो गया है|

भूमाफिया पिंटू शर्मा एवं नरेंद्र चौहान उर्फ़ नंदू द्वारा मस्तुरी तहसील के ग्राम भनेशर की जमीन जिसका खसरा नंबर 9/1 नरेन्द्र चौहान के नाम पर दर्ज है वही 11/1 जो कि शासकीय गौचर जमीन है जिसे जयरामवालजी का होने व उनके वंशजो द्वारा पिंटू शर्मा को नामिनी बनाए जाने का दावा करते हुए अपना होने को लेकर कब्ज़ा करने का प्रयास किया जा रहा है| शासकीय एवं निजी जमीन पर 30 से 32 हरे-भरे ईमारती वृक्षों को जेसीबी मशीन चलाकर उन्हें जड़ सहित उखाड़ दिया गया है, इस मामले की जानकारी होने पर बिलासपुर वनमंडलाधिकारी कुमार निशांत एवं वन परिक्षेत्राधिकारी नाथ के निर्देश पर सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी अजय कुमार बेन ने मौके पर पहुचकर क्षेत्र का निरीक्षण किया जिसमे शासकीय एवं निजी जमीन पर 30 से 32 हरेभरे ईमारती वृक्षों को काट दिया गया है जिसमे कई फलदार एवं इमारती वृक्ष है जिसे काटना प्रतिबंधित है, राजस्व अमले का परिक्षण उपरांत निजी व शासकीय भूमि पर काटे गए वृक्षों का पंचनामा बनाया है व अग्रिम कार्यवाही के लिए उच्चाधिकरियो को प्रतिवेदन बनाकर भेजा जा रहा है जिसके बाद इस मामले में वृक्षों को काटने वाले आरोपियों के खिलाफ वन अधिनियम के तहत कार्यवाही होनी निश्चित माना जा रहा है|

शासकीय एवं निजी जमीन की 30 से 32 हरेभरे ईमारती वृक्षों पर चलाया गया है जेसीबी ………………….

“शासकीय एवं निजी जमीन पर 30 से 32 हरेभरे ईमारती वृक्षों को काट दिया गया है जिसमे कई फलदार एवं इमारती वृक्ष है जिसे काटना प्रतिबंधित है, राजस्व अमले का परिक्षण उपरांत निजी व शासकीय भूमि पर काटे गए वृक्षों का पंचनामा बनाया है व अग्रिम कार्यवाही के लिए उच्चाधिकरियो को प्रतिवेदन बनाकर भेजा जाएगा”|

अजय कुमार बेन, सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी, सीपत वन मंडल