०० भूमाफिया पिंटू शर्मा एवं नरेंद्र चौहान उर्फ़ नंदू द्वारा शासकीय जमीनों से वृक्षों को काटकर वन अधिनियम व राजस्व नियमो की उड़ा रहे है धज्जियाँ  

०० मस्तूरी तहसील के भनेशर ग्राम पंचायत के नरवापारा, कृषि उपज मंडी एवं मंगल चंद तालाब के आसपास के विशाल वृक्ष को किया गया कटाई

०० बिलासपुर वनमंडलाधिकारी कुमार निशांत ने मामले में सख्त कार्यवाही का दिया आश्वासन

मस्तुरी| जयरामनगर से लगे ग्राम पंचायत भनेशर की निजी एवं शासकीय जमीन पर भूमाफियाओ द्वारा गुंडागर्दी करते हुए कब्ज़ा करने का प्रयास किया जा रहा है जबकि राजस्व क्षेत्र की जमीन पर सैकड़ो प्रतिबंधित हरे-भरे ईमारती वृक्षों को भूमाफिया पिंटू शर्मा व नरेन्द्र चौहान उर्फ़ नंदू द्वारा निर्ममतापूर्वक काट दिया गया है तथा कीमती ईमारती लकडियो को बेचने का कार्य किया जा रहा है| राजस्व की जमीन पर जंगल के वृक्षों को काटे जाने को लेकर मस्तुरी एसडीएम एवं तहसीलदार द्वारा किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जा रही है वही इस मामले में बिलासपुर वनमंडलाधिकारी कुमार निशांत ने मामले की जांच के बाद सख्त कार्यवाही किये जाने का आश्वासन दिया है|

एक तरफ जहा प्रदेश की भूपेश सरकार एवं केन्द्रीय शासन द्वारा प्रदेश में वृहद् वृक्षारोपण अभियान चलाकर आमजन को वृक्षारोपण करने के लिए प्रेरित करने के साथ ही करोडो की संख्या में फलदार एवं ईमारती वृक्ष लगाए जा रहे है वही दूसरी ओर सालो की मेहनत एवं देखभाल के बाद हरेभरे विशाल वृक्ष जब अपना आकर ले रहे है तो उन्हें भूमाफियाओ द्वारा अपने निजी हित व सवार्थ पूर्ति के लिए काटा जा रहा है| मस्तुरी तहसील के ग्राम भनेशर में राजस्व जमीन की जंगल को काटकर पूरा क्षेत्र साफ़ करने का कार्य किया जा रहा है, भूमाफिया पिंटू शर्मा द्वारा भनेशर की जमीन जिसका खसरा नंबर 9/1 नरेन्द्र चौहान के नाम पर दर्ज है वही 11/1 जो कि शासकीय गौचर जमीन है जिसे जयरामवालजी का होने व उनके वंशजो द्वारा पिंटू शर्मा को नामिनी बनाए जाने का दावा करते हुए अपना होने को लेकर कब्ज़ा करने का प्रयास किया जा रहा है इसी कड़ी में राजस्व की जमीन पर बड़े वृक्ष के जंगल की प्रतिबंधित ईमारती वृक्षों को बिना विभागीय अनुमति के काट दिया गया है वही भनेशर ग्राम पंचायत के नरवापारा, कृषि उपज मंडी एवं मंगल चंद तालाब के आसपास के विशाल वृक्ष की बलि दी गयी है| भूमाफिया पिंटू शर्मा द्वारा खुलेआम राजस्व की जमीनों पर बलपूर्वक कब्ज़ा किये जाने व जगल के हरे भरे वृक्षों को काटे जाने से साफ़ साफ़ प्रतीत हो रहा है कि भूमाफिया को मस्तुरी एसडीएम एवं तहसीलदार का संरक्षण प्राप्त है जिसके चलते भूमाफिया लगातार शासकीय जमीन पर कब्ज़ा कर उन्हें उचे दामो पर बिक्री करने के कार्य को अंजाम दे रहे है जबकि राजस्व क्षेत्र की जमीनों पर कब्ज़ा करने एवं हरे भरे वृक्षों को बिना अनुमति काटे जाने को लेकर वन अधिनियम एवं राजस्व अधिनियम के तहत कड़ी कार्यवाही किये जाने का प्रावधान है लेकिन भूमाफिया पिंटू शर्मा व नरेंद्र चौहान उर्फ़ नंदू के खिलाफ किसी भी तरह की कार्यवाही नहीं की जा रही है|

दोषियों के खिलाफ होगी सख्त से सख्त कार्यवाही ………………….

सैकड़ो की संख्या में हरे भरे वृक्षों को काटे जाने की जानकारी सामने आयी है इस मामले में जांच उपरांत दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जायेगी|

कुमार निशांत, वनमंडलाधिकारी, बिलासपुर