०० तखतपुर जनपद के ग्राम पंचायत जोकी के सरपंच की जाति प्रमाण पत्र को लेकर लगाया गया है सूचना का अधिकार, दो माह बाद भी नहीं दी जा रही है जानकारी

०० वस्त्रकार जाति को अनुसूचित जाति वर्ग में शामिल होना बताकर कोरबा से बनाया गया है जाति प्रमाण पत्र

०० जोकी के सरपंच के परिजनों में से कइयो ने पिछडा वर्ग जाति से जीते पंचायत में पंच पद

०० सरपंच के भाई पिछडा वर्ग जाति से कर रहे है शासकीय सेवा  

बिलासपुर| तखतपुर जनपद के ग्राम जोकी के सरपंच द्वारा अपने जाति प्रमाण पत्र को अनुसूचित जाति वर्ग का होना बताकर सरपंच चुनाव लड़ा व जीत भी हासिल कर ली लेकिन सरपंच की जाति पिछड़ा वर्ग से आने की जानकारी सामने आई है, सरपंच की जाति को लेकर संशय की स्थिति निर्मित होने पर सूचना के अधिकार के तहत जानकारी लेकर पुष्टि करने की कोशिश की गयी लेकिन दो माह बीत जाने के बाद भी जानकारी नहीं मिलने से सरपंच की जाति को लेकर उठे संशय को सत्य निर्धारित करता नज़र आ रहा है| इसी तरह जोकी सरपंच द्वारा साईं प्रसाद चिटफण्ड में एजेंट बनकर क्षेत्र के लोगो को लाखो की राशि का बंदरबाट किये जाने व चिटफण्ड मामले में कार्यवाही से बचने पंचायत क्षेत्र में निवास ना कर नगर के मंगला क्षेत्र में निवास कर अपने कारनामो को अंजाम दिया जा रहा है|   

तखतपुर जनपद के ग्राम पंचायत जोकी का सरपंच पद अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित किया गया था जिसमे जोकी पंचायत नवनियुक्त सरपंच महेश वस्त्रकार द्वारा सरपंच चुनाव लड़ने व जीतने के लिए फर्जी तरीके से अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र रूपए के दम पर कोरबा जिले से बनवाकर वर्तमान में ग्राम जोकी में सरपंच पद पर काबिज हैं| सरपंच महेश वस्त्रकार के जाति प्रमाण पत्र को लेकर शंसय की स्थिति निर्मित होने पर जोकी पंचायत के ही निवासी गौरीशंकर सूर्यवंशी द्वारा जनपद पंचायत तखतपुर के रिटनिंग अधिकारी के समक्ष सूचना का अधिकार के तहत सरपंच महेश वस्त्रकार के द्वारा पंचायत चुनाव के लिए किये गए आवेदन में उनके सभी प्रमाण पत्रों की जानकारी मांगी गयी जिसके 2 माह बीत जाने के बाद भी सरपंच महेश वस्त्रकार के दस्तावेजो की जानकारी उपलब्ध नहीं करायी जा रही है| सूत्रों की माने तो सरपंच द्वारा अपने जाति प्रमाण पत्र को अनुसूचित जाति वर्ग का होना बताकर सरपंच चुनाव लड़ा व जीत भी हासिल कर ली लेकिन सरपंच की जाति पिछड़ा वर्ग से आने की जानकारी सामने आई है, इसी तरह सरपंच की जाति के अन्य परिजन भी पंचायत में पिछड़ा वर्ग से पंच पद पार्ट काबिज है वही सरपंच महेश वस्त्रकार के भाइयो के द्वारा गलत तरीके से फर्जी प्रमाण पत्र बनवाकर एक रायगढ़ जिले में प्रोग्राम आफिसर के पद पर हैं, और एक बिलासपुर फारेस्ट विभाग में कार्यरत हैं।

जोकी सरपंच ने चिटफण्ड कंपनी के साथ मिलकर क्षेत्रवासियों को लगाया है लाखो का चुना :- ग्राम पंचायत जोकी के नवनियुक्त सरपंच द्वारा गलत तरीके से जाति प्रमाण पत्र हासिल कर अनुसूचित जाति वर्ग से सरपंच पद पर अपना कब्ज़ा जमाया है जबकि सरपंच महेश वस्त्रकार साई प्रसाद कंपनी में ग्राम जोकी सहित तखतपुर के कई ग्राम पंचायतों के लोगो से लाखों का चूना लगाया हुआ हैं,इसके आलावा बिलासपुर जिले के ही ग्राम पाराघाट के बहुत सारे लोगो का लाखो का इस साई प्रसाद के नाम पर फर्जीबाड़ा किया गया है, सरपंच महेश वस्त्रकार अपने ग्राम पंचायत जोकि में रहने के स्थान पर बिलासपुर शहर के मंगला के साई विहार में निवासरत है ताकि चिटफण्ड के फर्जीवाड़े से बच सके|